मेरान्यूज नेटवर्क. गुजरात : मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा कि विकास को केंद्र में रख उत्तम से सर्वोत्तम की दिशा में आगे बढ़ने की राज्य सरकार की अभिलाषा है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि लोकार्पित होने वाले विकास कार्यों का लाभ अधिकाधिक लोगों तक पहुंचे और भावनगर शहर ईज ऑफ डूइंग ही नहीं बल्कि ईज ऑफ लिविंग के क्षेत्र में भी श्रेष्ठ बने। 

रूपाणी ने सोमवार को भावनगर शहर में आधुनिक फ्लाईओवर और प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत 1,322 आवासों के निर्माण सहित 255.61 करोड़ रुपए लागत के विकास कार्यों का ई-भूमिपूजन तथा गंगाजलिया तालाब का पुनर्विकास, रूवा-आनंद नगर और तरसमिया स्वास्थ्य केंद्र का ई-लोकार्पण किया। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि भावनगर ने भावसिंह जी, कृष्णकुमार सिंह जी तथा प्रभाशंकर पट्टणी जैसे कुशल शासक दिए हैं। राष्ट्र के एकीकरण के लिए कृष्णकुमार सिंह जी ने अपना राज्य राष्ट्र के चरणों में समर्पित करने की पहल की थी। इसी तरह शिक्षा के क्षेत्र में प्रभाशंकर पट्टणी का योगदान इतिहास के पन्नों पर सुनहरे अक्षरों में अंकित है। 

कोरोना जैसी महामारी के दौर में भी भावनगर की विकास यात्रा जारी रहने और जन-केंद्रित विकास कार्यों के पूर्ण होने पर उन्होंने खुशी व्यक्त की। 

कोरोना संक्रमण की रोकथाम में भावनगर के श्रेष्ठ कार्य का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी में गुजरात द्वारा उठाए गए कदमों ने पूरे देश का ध्यान आकर्षित किया है। कर्मचारी, अधिकारी तथा लोगों के सामूहिक प्रयासों से आज गुजरात में अन्य राज्यों के मुकाबले कोरोना के संदर्भ में प्रभावी कार्य हुआ है और इसलिए ही गुजरात का रिकवरी रेट (मरीजों के स्वस्थ होने की दर) देश में सबसे ऊंचा है। कोरोना संक्रमण की रोकथाम में गुजरात की रणनीति सफल रही है। मृत्यु दर भी कम हुई है और पॉजिटिविटी रेट भी अब घटने लगा है। 

मुख्यमंत्री साफ तौर पर कहा कि गुजरात की सरकार पारदर्शक, संवेदनशील और जनहित को ध्यान में रखते हुए त्वरित निर्णय लेने वाली सरकार है। लोगों की भावनाओं को समझकर उनकी आशा और आकांक्षाओं को पूरा करने को कटिबद्ध है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का आदर्श गुजरात मॉडल का स्वप्न परिपूर्ण हो रहा है। 

भावनगर के सर्वांगीण विकास की मंशा व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि सीएनजी पोर्ट, अलंग शिप ब्रेकिंग यार्ड, शैक्षणिक क्षेत्र, सड़क-फ्लाईओवर, हीरा उद्योग, रोलिंग मिल, नल से जल योजना सहित तमाम क्षेत्रों में भावनगर का विकास करने को राज्य सरकार निरंतर प्रयासरत है। 

इस मौके पर राज्य मंत्री विभावरीबेन दवे ने कहा कि भावनगर शहर में पहली बार 255 करोड़ रुपए से अधिक के विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन हो रहा है। उन्होंने मुख्यमंत्री के संवेदनशील निर्णयों का उल्लेख करते हुए कहा कि 1,400 दिनों के भीतर मुख्यमंत्री ने जनहित के लगभग 1,500 निर्णय लेकर गुजरात को विकास की राह पर आगे ले जाने में अहम भूमिका अदा की है। दवे ने भावनगर रियासत के दौर में कृष्णकुमार सिंह जी द्वारा किए गए टीपी स्कीम, लोकगेट और रिजर्व फॉरेस्ट जैसे विकास कार्यों का स्मरण किया। 

विधायक जीतुभाई वाघाणी ने भावनगर शहर को पहले फ्लाईओवर की भेंट देने के लिए भावनगर की जनता की ओर से मुख्यमंत्री का आभार जताते हुए कहा कि इस आधुनिक चार मार्गीय फ्लाईओवर के बनने से लोगों की सुविधाओं में बढ़ोतरी होगी। वाघाणी ने कोविड-19 की स्थिति में स्वास्थ्य के साथ-साथ विकास कार्यों को भी प्राथमिकता देने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। 

कार्यक्रम में भावनगर के महापौर मनहरभाई मोरी, उप महापौर अशोकभाई बारैया, शिक्षा समिति के चेयरमैन नीलेश रावल, मनपा में शासक पक्ष के नेता परेशभाई पंड्या, मनपा आयुक्त एम.ए. गांधी, उपायुक्त गोहिल सहित पार्षदगण और अधिकारी उपस्थित थे।