मेरान्यूज़ नेटवर्क,अहमदाबाद: आरोग्य मंत्री के बेटे से विवाद के बाद सुर्खियोंमें आई लोकरक्षक सुनीता यादव का एक और वीडियो सामने आया है। जिसमें वह बता रही है कि, उस रात वह लोग मुजे शराब पीलाने की बात कर रहे थे। अगर में वर्दी में नहीं होती तो सबकी हड्डियां तोड़ डालती। इस बात को काफी दिन हो चुके है। लेकिन आज भी मुजे नींद नहीं आती है। जैसे ही में आंखे बंद करती हूं, मुजे वह लोग और करप्ट अधिकारी दिखाई दे रहे है। खुद की सुरक्षा के लिए वह पूरी तरह तैयार होने की बात बताते हुए, सुनीता ने जरूरत पड़ने पर सिस्टम के सामने लड़ने की तैयारी भी दिखाई है।

सुनीता ने इस वीडियो में कहा है कि, मैंने जब उनको रोका तो वह सिर्फ 6 लोग थे। लेकिन अगर 60-70 होते तो भी में उनकी हड्डियां तोड़ देती। मैंने पुलिस ट्रेनिंग व एनसीसी में काफी महेनत की है। हालांकि अभी इस सिस्टम के कारण मजबूर हूं। उन लोगोंने मुजे शराब पीलाने की बात की थी। जबकि वह खुद नशेमें धूत थे। उस रातवाली हेल्थ मिनिस्टर साहब की ऑडियो ठीक से सुनोगे तो उसमें भी वह कह रहे है कि, उसको एक पेग पिला दो। अगर में वर्दी में नहीं होती तो सबकी हड्डियां तोड़कर रख देती।

आगे सुनीता ने हेल्थ मिनिस्टर पर तंज कसते हुए कहा कि, मिनिस्टर साहब अपने बेटे को काबू में रखो, वरना में कुछ ऐसा करूंगी कि, वो भले जमानत पर छूट गया हो फिरसे अंदर हो जाएगा। मुजे न्याय मिलने में इतनी देर क्यो ? कानून इतना कमजोर क्यो है ? न्याय की ऊंची कुर्सी पर बैठे लोग मुजे न्याय दिलाए। महिला अधिकार की बात करनेवाले कहा है ? 8 जुलाई से में सो नहीं पाई हु। मुजे न्याय कब मिलेगा ?

रागिनी यादव के बारेमें बताते हुए सुनीता ने कहा कि, मैंने उसका वीडियो देखा था। वह तीन साल से सिस्टम के साथ लड़ रही है। उसके साथ अन्याय हुआ है। और में उसे सपोर्ट करती हूं। जो कोई भी मुजे सपोर्ट करता है उसको मेरी बिनती है कि, वह रागिनी को मदद करे। में तो पुलिसकर्मी होने के कारण अन्याय से लड़ने की ताकत रखती हूं। कुछ पुलिसवाले गद्दार है। जो नौकरी तो सरकार की करते है, लेकिन असल में भ्रष्ट नेताओं के गुलाम है। रागिनी का रेप और मर्डर करने की बाते करनेवाले ऐसे अधिकारियों को सलाखों के पीछे डाल देना चाहिए।

प्रधानमंत्री मोदी का नाम लेते हुए सुनीता ने कहा कि, मोदीजी मंदिर बनाना अच्छी बात है। लेकिन अगर आप यह कर सकते हो तो बेटियों की सुरक्षा क्यों नहीं करते हो। मेरी वॉर्निंग है कि, अब अगर देश की किसी भी बेटी से अन्याय हुआ तो में इस्तीफा मंजूर होने का इंतजार किए बिना मैदान में उतर आऊंगी। और बिना किसी डर के सिस्टम से लड़ूंगी। अभी में राजस्थान के जैसलमेर में हूं। जिसको जो करना है कर ले। अब मेरे सामने जो भी आएगा उसके हाथपैर तोड़कर उसको मौत के घाट भी उतार दूंगी। यह मेरी चेतावनी है, इसे सुनकर अगर मुजे हवालात में डालना है तो डाल दो।