मेरान्यूज नेटवर्क. गांधीनगर : राज्य के पांच महानगरों में अब सिंगापुर और दुबई की तरह स्काय स्क्रेपर्स इमारतों को मंजूरी दी जाएगी। सीएम विजय रुपाणी ने आज इसकी घोषणा की। और कहा कि, अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत, राजकोट व गांधीनगर को खास पहचान देने के लिए अब CGDCR-2017 में बदलाव किया गया है। जिसके तहत यहां 70 से 80 मंझिला इमारतें बनाई जा सकेगी। इससे आम आदमी को अफोर्डेबल घर उपलब्ध करवाया जा सकेगा। 

आगे उन्होंने बताया कि, गुजरात में अभीतक 22-23 मंझिला इमारतों को ही मंजूरी दी जा रही थी। लेकिन राज्य सरकार ने ऊंची इमारतें बनाने को मंजूरी दी है। हालांकि 100 मीटर से ज्यादा ऊंची बिल्डिंगों के लिए ही यह नियम लागू होगा। साथ ही इसके लिए बिल्डिंग का एक्सपेक्ट रेशियो 1:9 होना अनिवार्य है। 

इसके लिए समीक्षा समिति का गठन भी किया गया है। अभी के CGDCR के मुताबिक, जहां पर 1:2 की FSI मिल सकती है, वह बिल्डर ऊंची इमारतें बनाने की मंजूरी मांग सकते है। बादमें स्पेशल टेक्निकल टीम द्वारा जांच की जाएगी। और इसके बाद ही ऐसी हाइराइज बिल्डिंग बनाने की मंजूरी दी जाएगी। 

राज्य में 100-150 मीटर ऊंचाई के लिए प्लॉट की साइज 2500 चोरस मीटर और 150 मीटर से ज्यादा ऊंचाई के लिए 3500 चोरस मीटर अनिवार्य रहेंगी। जिसमें बेईज FSI फ्री और बाकी FSI को प्रीमियम चार्जेबल रखा गया है। रेसिडेंस, कॉमर्शियल समेत रिक्रिएशन बिल्डिंग में यह नियम लागू किया जाएगा। ऐसे बिल्डिंगों के पार्किंग में इलेक्ट्रिक चार्जिंग समेत विंड टनल टेस्ट अनिवार्य होगा।