मेरान्यूज नेटवर्क.कच्छ: खड़ीर रण में हिंदी फिल्म रिफ्यूजी जैसी एक घटना सामने आई है। जिसमें सोशल मीडिया से एक पाकिस्तानी युवति के संपर्क में आया युवक बाइक से उसे मिलने जा रहा था। हालांकि वह दो दिनों से रणमें भटक रहा था। जिसकी सूचना मिलने पर स्थानीय पुलिस व बीएसएफ ने उसकी खोजबीन शुरु कर दी। इस दौरान पहले धोलावीरा फॉसिल्स पार्क से उसकी बाइक और बादमें गुरुवार देर रात खावडा के काला डुंगर से युवक भी बीएसएफ द्वारा पकड़ा गया है। 

संवाददाता के अनुसार अपनी जान जोखिम में डाल एक युवक पाकिस्तान प्रेमिका से मिलने जा रहा होने की सूचना मिलते ही सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो गई थी। प्रेम में अंधा बना यह युवक रण में अपनी जान गंवा देगा। वह आतंकी नहीं है, लेकिन पाकिस्तानी युवति ने किसी साजिश को अंजाम देने के लिए उसे अपने प्यार के जाल में फांसा होने की संभावना को भी नकारा नहीं जा सकता था। इसी कारण रण के बारेमें कुछ भी नहीं जानने के बावजूद भटक रहे इस युवक को ढूंढने में स्थानीय पुलिस व बीएसएफ भी जुट गई।

जांच के दौरान धोलावीरा फॉसिल्स पार्क से महाराष्ट्र पार्सिंगवाली कावासाकी बॉक्सर बाइक मिल जाने पर आरटीओ से उसका मोबाईल नंबर निकाला। जिसका आखिरी लोकेशन भी फॉसिल्स पार्क था। पूर्व कच्छ पुलिस अधीक्षक परिक्षिता राठोड ने भी इस बातका समर्थन किया। और बताया कि, इस युवक की बाइक  मिलने के बाद वह खड़ीर के आसपास देखा गया होने की जानकारी स्थानीय लोगों से मिली थी। 

इसके आधार पर बीएसएफ की टीम द्वारा खोजबीन किए जाने पर वह देर रात काला डुंगर स्थित शेरगिल चौकी के पास से पकड़ा गया। उसके पकड़े जाने की जानकारी देते हुए भचाऊ डीवायएसपी के. जी. झाला ने कहा कि, वह तकरीबन सुबह 10 बजे फॉसिल्स से रवाना हुआ। उसके पास पीने का पानी तक नही था। और बाइक फंस जाने के कारण वह पैदल ही भटक रहा था।