मेरान्यूज नेटवर्क.नई दिल्ली: 'टेस्ट,ट्रैक,ट्रीट’ यानी ‘परीक्षण, पता लगाना और उपचार’ की रणनीति पर चलते हुए भारत ने एक ही दिन में 5 लाखसे अधिक कोविड-19 परीक्षण का नया उच्च रिकॉर्ड बनाया और उसे लगातार दूसरे दिन भी बनाए रखा है। यह कोविड-19 के सक्रिय मामलों का शुरुआती पता लगाने और उन्हें आइसोलेशन में रखने के पहले महत्वपूर्ण कदम के रूप में तेजी से और बड़े स्तर पर परीक्षण कराने में केंद्र और राज्य / केंद्र शासित प्रदेश सरकारों के संयुक्त और केंद्रित प्रयासों का परिणाम है। भारत में 26 जुलाई कोकुल 5,15,000 नमूनों का और 27 जुलाई को कुल 5,28,000 नमूनों का परीक्षण किया गया।

धीरे-धीरे श्रेणीबद्ध और उभरती प्रतिक्रिया के परिणामस्वरूप एक परीक्षण रणनीति बनी,जिससे देश में परीक्षण नेटवर्क कोलगातार बढ़ाया गया। आज की तारीख में शुरू से लेकर अब तक कुल 1.73करोड़ नमूनों के परीक्षण किए जा चुके हैं। प्रति दस लाख (टीपीएम) की आबादी पर 12,562लोगों की जांच की जा रही है।

नोएडा,मुंबई और कोलकाता में तीन उच्च प्रवाह क्षमता वाली परीक्षण सुविधाओं को शामिल करने के साथ भारत की परीक्षण क्षमता में और बढ़ोतरी हुई है। इनका कल प्रधानमंत्री द्वारा वर्चुअल उद्घाटन किया गया था। देश में अभी 1310 प्रयोगशालाओं के साथ देश में परीक्षण प्रयोगशाला नेटवर्क को लगातार मजबूत किया जा रहा है। इनमें सरकारी क्षेत्र में 905 प्रयोगशालाएं और 405 निजी प्रयोगशालाएं हैं। इसमें शामिल हैं:

• वास्तविक समय आरटी पीसीआर आधारित परीक्षण प्रयोगशालाएं: 668 (सरकारी: 407 + निजी: 261)

• ट्रूनेट आधारित परीक्षण प्रयोगशाला: 537 (सरकारी: 467 + निजी: 70)

• सीबीएनएएटीआधारित परीक्षण प्रयोगशालाएं: 105 (सरकारी: 31 + निजी: 74)