मेरान्यूज नेटवर्क.सूरत : सूरत के हजीरा इलाके में ओएनजीसी कंपनी के गैस टर्मिनल पर तीन विस्फोट हुए। विस्फोट ने ग्रामीणों को हिला दिया और सभी ग्रामीण घर से बाहर निकल आए थे। विस्फोट के साथ गैस टर्मिनल में आग घघक उठी। जिसकी लपटें 10 किमी दूर आसमान में दिखाई दे रही हैं। हालांकि अभीतक किसी के हताहत होने खबर नहीं मिली। लेकिन सुरक्षा कारणों से, मगदल्ला चोकड़ी से इछापोर चोकड़ी तक के राजमार्ग बंद कर दिए गए हैं। दमकल विभाग के अनुसार, गैस टर्मिनल पर आग लगने और एक बड़े विस्फोट के बाद तीन लोगों के लापता होने की सूचना है। इनमें से एक को सुरक्षा गार्ड और दो को कामगार बताया गया है।

मुंबई से समुद्र के रास्ते आने वाली गैस पाइपलाइन के माध्यम से ओएनजीसी के इस (एक) प्लांट में गैस की आपूर्ति की जा रही थी, जिसमें लगातार तीन धमाकों के कारण खलबली मच गई। यह गैस पाइपलाइन 240 किलोमीटर लंबी है। जिससेआग बुझाने में कई घंटे लग सकते हैं। कई किलोमीटर दूर लोगों के घरों की दीर्घाओं और छतों से आग की लपटें देखी जा सकती हैं। सूरत के जिला कलेक्टर डॉ. धवल पटेल ने कहा कि गैस रिसाव के बाद आग लगी। अभी तक किसी के घायल होने या मौत की सूचना नहीं है। फिलहाल राहत और बचाव कार्य जारी है।

बतादे कि, विस्फोट के बाद, ओएनजीसी के अग्निशमन विभाग के 10 से 12 वाहन और सूरत के अग्निशमन विभाग के वाहन भी आग पर काबू पाने के लिए पहुंच गए हैं।108 एंबुलेंस का काफिला भी मौके पर पहुंच गया है। सुरक्षा के तहत संयंत्र तक सभी पहुंच को बंद कर दिया गया है। पुलिस वाहनों को भी संयंत्र के लिए रवाना कर दिया गया है। लगभग सभी संविदा कर्मियों को भी दुर्घटनास्थल से हटा दिया गया है।