मेरान्यूज नेटवर्क. गुजरात : मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने राज्य सरकार की नौकरियों में भर्ती के मामले में राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों, गुजरात लोक सेवा आयोग, अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड, पंचायत सेवा चयन बोर्ड, पुलिस, सामान्य प्रशासन विभाग और शिक्षा विभाग की उच्चस्तरीय बैठक में तत्काल भर्ती प्रक्रिया शुरू करने के महत्वपूर्ण आदेश दिए हैं। 

मुख्यमंत्री ने राज्य के युवाओं को राज्य सरकार की सेवा में जुड़ने के अवसर मुहैया कराने के लिए भर्ती प्रक्रिया को तेजी से शुरू करने का स्पष्ट निर्देश दिया है। 

इस उद्देश्य से मुख्यमंत्री ने राज्य सरकार के विभिन्न विभागों में भी तत्काल समयबद्ध भर्ती प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश दिए हैं। 

यही नहीं, मुख्यमंत्री ने गुजरात लोक सेवा आयोग (जीपीएससी), गुजरात अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड, पंचायत सेवा चयन बोर्ड, गृह एवं सामान्य प्रशासन विभाग को तत्काल स्तर पर भर्तियों का दौर आगे बढ़ाने का स्पष्ट निर्देश दिया है। 

इस संदर्भ में आयोजित एक उच्चस्तरीय बैठक में मुख्यमंत्री द्वारा किए गए निर्णयों के अनुसार भर्ती प्रक्रिया पूर्ण हो चुकी हो लेकिन परिणाम की घोषणा बाकी हो, ऐसी रिक्तियों की संपूर्ण प्रक्रिया अगले तीन से पांच महीने में पूरी कर ली जाएगी। 

राज्य सरकार की ओर से जिन विभिन्न भर्ती एजेंसियों और विभागों द्वारा पूर्व में दिए गए विज्ञापनों और जिन  रिक्तियों के लिए प्राथमिक परीक्षा का पहला चरण पूरा हो गया था लेकिन अन्य चरण शेष रह गए थे, ऐसी 8000 रिक्तियों के लिए बाकी की प्रक्रियाएं जल्द पूरी कर तत्काल नियुक्ति पत्र देने के निर्देश उन्होंने दिए हैं। 

राज्य के रोजगार इच्छुक और होनहार युवाओं को सरकारी नौकरियों में समय पर और व्यापक रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने का रास्ता मुख्यमंत्री ने साफ कर दिया है। 

जिसके अनुसार, राज्य सरकार के विभिन्न विभागों में भर्ती के लिए जिन रिक्तियों के विज्ञापन प्रकाशित हो चुके हैं, परन्तु परीक्षा नहीं ली गई है, ऐसी 9,650 रिक्तियों की भर्ती प्रक्रिया कोरोना कोविड-19 की स्थिति सामान्य होते ही शुरू कर देने का उन्होंने आदेश दिया है। 

रूपाणी के इस युवा रोजगार परक निर्णयों के चलते राज्य के लगभग 20,000 से अधिक युवाओं को अगले करीब पांच महीनों में सरकारी सेवा में नौकरी के अवसर मिलने लगेंगे। 

राज्य के युवाओं को सरकारी नौकरियों में बड़ी संख्या में अवसर मुहैया कराने और गुजरात के प्रशासनिक तंत्र को उच्च गुणवत्ता युक्त टेक्नोसेवी मानवबल सुलभ कराने के मकसद से मुख्यमंत्री ने ये अहम निर्णय लिए हैं। 

उल्लेखनीय है कि गुजरात एक विकासशील राज्य के तौर पर पूरे देश का अग्रिम राज्य है। इतना ही नहीं, पिछले दो दशकों से गुजरात ने रोजगार प्रदान करने के मामले में भी प्रथम स्थान हासिल किया है। 

पूर्व में कांग्रेस के शासनकाल के दौरान सरकारी नौकरियों की भर्ती पर प्रतिबंध होने के कारण राज्य के लाखों युवा बरसों तक सरकारी नौकरियों के अवसर से वंचित रहते थे। 

मुख्यमंत्री विजय रूपाणी के दूरदर्शी नेतृत्व में पारदर्शी और त्वरित तथा सरल भर्ती प्रक्रिया के परिणाम स्वरूप गत चार वर्ष में साव लाख युवाओं को राज्य सरकार की नौकरियों में अवसर मिला है।
 
इतना ही नहीं, राज्य सरकार ने पहली बार 10 वर्षीय भर्ती कैलेंडर तैयार कर समयबद्ध भर्ती को सुनिश्चित किया है। 

पूर्व की सरकारों के दौरान जीपीएससी की परीक्षा लेने और उसके नतीजे घोषित करने में काफी लंबा वक्त बीत जाता था, जिससे युवा नौकरी के अवसर से वंचित रह जाते थे। इस समस्या का निवारण लाते हुए अब जीपीएससी भी भर्ती कैलेंडर के जरिए एक ही वर्ष की अल्पावधि में समयबद्ध और त्वरित प्रतियोगी परीक्षाओं के आयोजन सहित भर्ती की तमाम प्रक्रियाएं पूरी कर देती है। 

मुख्यमंत्री ने अब इस भर्ती प्रक्रिया को ज्यादा सुदृढ़ और परिणाम उन्मुख के साथ ही समयबद्ध बनाकर राज्य के युवाओं को करियर निर्माण के उत्तम अवसर सुलभ कराए हैं। 

मुख्यमंत्री ने इन सभी भर्ती प्रक्रियाओं को समयबद्ध और निर्धारित आयोजन के अनुसार पूर्ण करने के उद्देश्य से विभिन्न विभागों, भर्ती एजेंसियों, जीपीएससी और अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड आदि को स्पष्ट आदेश भी दिए हैं। 

राज्य सरकार की नौकरियों में भर्ती के लिए किए गए मुख्यमंत्री के इस अनूठे आयोजन के चलते उच्च गुणवत्ता युक्त कुशल टेक्नोसेवी युवाधन राज्य सरकार की नौकरियों के जरिए जनता की सेवा के लिए उपलब्ध होगा।  

इन प्रयासों में मुख्यमंत्री द्वारा आज किया गया भर्ती प्रक्रिया का एक और निर्णय इस दिशा में मील का पत्थर साबित होगा।