मेरान्यूज नेटवर्क.नई दिल्ली: एयर मार्शल वी आर चौधरी एवीएसएम वीएम ने 01 अगस्त, 2020 को भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के पश्चिमी वायु कमान के एयर ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ के रूप में पदभार संभाला। उन्होंने एयर मार्शल बी सुरेश पीवीएसएम एवीएसएम वीएम एडीसी से कमान संभाली।

एयर मार्शल वी आर चौधरी को लड़ाकू पायलट के रूप में 29 दिसंबर 1982 को भारतीय वायुसेना के फाइटर स्ट्रीम में कमीशन दिया गया था। लगभग 38 वर्षों के एक विशिष्ट करियर में एयर मार्शल वी आर चौधरी ने भारतीय वायुसेना में शामिल कई किस्म के लड़ाकू और प्रशिक्षक विमान उड़ाए हैं। उनके पास 3800 से अधिक घंटे का उड़ान अनुभव है, जिसमें मिग-21, मिग-23 एमएफ, मिग-29 और एसयू-30 एमकेआई लड़ाकू विमान शामिल हैं।

वायुसेना में अपने शानदार कैरियर के दौरान, एयर मार्शल वी आर चौधरी ने कई महत्वपूर्ण नियुक्तियां की हैं। वह फ्रंटलाइन फाइटर स्क्वाड्रन के कमांडिंग ऑफिसर थे और उन्होंने फ्रंटलाइन फाइटर बेस की भी कमान संभाली है। एयर वाइस मार्शल के रूप में, उन्होंने वायु सेना मुख्यालय वायु भवन में असिस्टेंट चीफ ऑफ एयर स्टॉफ ऑपरेशन (वायु रक्षा), असिस्टेंट चीफ ऑफ एयर स्टॉफ ऑपरेशन (कार्मिक अधिकारी) की प्रतिष्ठित नियुक्तियां कीं। एयर मार्शल के रूप में, उन्होंने वायु सेना मुख्यालय वायु भवन में वायु सेना के उप प्रमुख की नियुक्ति की। अपनी वर्तमान नियुक्ति से पहले, वह पूर्वी वायु कमान में वरिष्ठ वायु कर्मचारी अधिकारी थे। वे रक्षा सेवा स्टॉफ कॉलेज, वेलिंगटन के पूर्व छात्र हैं।

उनकी विशिष्ट सेवा की मान्यता में जनवरी 2004 में एयर मार्शल वी आर चौधरी को वायु सेना पदक और जनवरी 2015 में अति विशिष्ट सेवा पदक से सम्मानित किया गया था।