मेरान्यूज नेटवर्क. गांधीनगर: मुख्यमंत्री विजय रूपाणी से सोमवार को गांधीनगर में 2019 बैच के 7 प्रशिक्षु आईपीएस (भारतीय पुलिस सेवा) अधिकारियों ने मुलाकात की। इन 7 अधिकारियों को गुजरात कैडर आवंटित किया गया है। 

2019 बैच के ये 7 प्रशिक्षु आईपीएस अधिकारी वर्तमान में कराई पुलिस अकादमी में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं। 

1 सितंबर से वे उन्हें आवंटित जिलों भरुच, जूनागढ़, मोरबी, खेड़ा, वडोदरा ग्रामीण, अहमदाबाद ग्रामीण और भावनगर में बतौर परीविक्षाधीन अधिकारी अपनी सेवाएं देने को नियुक्त होंगे। 

इन प्रशिक्षु युवा आईपीएस अधिकारियों के साथ संवाद करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कानून व्यवस्था के पहरेदार के रूप में उन्हें जनसेवा का जो अवसर मिला है, उसके अंतर्गत अपने सेवाकाल के दौरान वे अपना दायित्व कुछ इस तरह निभाएं कि समाज की कतार में खड़े अंतिम व्यक्ति को भी यह अनुभूति हो कि पुलिस उसके साथ खड़ी है। 

इन प्रशिक्षु आईपीएस अधिकारियों में से ज्यादातर के पास इंजीनियरिंग की डिग्री होने का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि गुजरात ने पुलिस बल में टेक्नोलॉजी का अधिकतम उपयोग कर ‘मॉडर्न पुलिस फोर्स’ की छवि बनाई है, जिसे ये युवा अपने ज्ञान-कौशल के योगदान के जरिए बेहतर निखार दे सकते हैं। 

मुख्यमंत्री ने इन युवा आईपीएस प्रशिक्षु अधिकारियों को समाज सुरक्षा की जिम्मेदारी पूर्ण ईमानदारी और निष्ठा से अदा करने की शुभकामनाएं दी। 

इस अवसर पर मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव के. कैलाशनाथन भी उपस्थित थे।