मेरान्यूज नेटवर्क. अहमदाबाद: गुजरात के पाटीदार अनामत आन्दोलन के नेता हार्दिक पटेल ने सोशियल मीडिया में मेसेज कर कहा है की सीआरपीएफ के जवानो पर हुए आतंकवादी हमले बाद देश में इसे सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश हो रही है. इसे कम करने के लिए उन्होंने पांच वचन लेने का आह्वान किया है.

हार्दिक पटेल के कहा है की देश से भड़काऊ नारेबाजी और जुलूसों की ख़बरें आ रही हैं। सैनिकों की शहादत को एक साम्प्रदायिक रंग देने की कोशिश हो रही है। जिस देश ने अभी अपने 42 जवान खोए हैं उसमें आपसी विद्वेष फैलाने की कोई भी कोशिश देश और उसके संविधान के प्रति विश्वासघात है और उन दुश्मनों को मजबूत करना है जो इसका उपयोग विश्व जनमत के समक्ष हमारे देश की छवि धूमिल करने में करेंगे।

हम भारत के नागरिक यह वचन लेते हैं।

1- ऐसे किसी साम्प्रदायिक अभियान का हिस्सा नहीं बनेंगे।
2- साम्प्रदायिक द्वेष और घृणा से भरे मैसेज तुरन्त डिलीट करेंगे और इसे कहीं शेयर/फॉरवर्ड नहीं करेंगे।
3- कश्मीर सहित देश के किसी भी हिस्से के बाशिंदों को नुकसान पहुंचाने वाली कार्यवाही में शामिल नहीं होंगे।
4- अपना मानसिक संतुलन बनाये रखते हुए देश के साथ खड़े रहेंगे और दुख की इस घड़ी में इसे कमज़ोर करने वालों का विरोध करेंगे।
5- नफरत की जगह भाईचारा फैलाकर ऐसी किसी साजिश को बेनक़ाब करेंगे।