मेरान्यूज नेटवर्क, गांधीनगर (गुजरात): गुजरात के खेड़ा जिले के बालासिनोर के नजदीक रैयाली गांव के पास खुदाई के दौरान 1983 में डायनासोर के जीवाश्म मिले थे. जिसके बाद यहां एक डायनासोर पार्क बनाने की योजना तैयार की गई थी. 7 जून के दिन गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी इस पार्क का उद्धाटन करनेवाले है.

डायनासोर पार्क की विशेषताए:  इस पार्क में कुल 10 गैलरी बनाई गई है. प्रथम गैलरी में भूतकाल की झलक, दूसरी और तीसरी गैलरी में पृथ्वी के उदभव, चौथी  में विश्व में मिले डायनासोर, पांचवी में भारत में मिले डायनासोर, छठी में थ्री-डी स्टीरियोस्कोप थियेटर, सातवी में गुजरात में पाये गये डायनासोर, आठवीं में एक्सटिंसन थियरी, नौवीं में फॉसिल एक्झीबिट, दसवीं में बच्चो के लिए डायनो फन बनाया गया है.  

गुजरात के रैयाली गांव में मिले डायनासोर के जीवाश्म के बारे में रिसर्च के बाद विशेषज्ञों का कहना है ही यह डायनासोर टायरेनोसोरस रेक्स प्रजाति के थे. यहाँ से डायनसोर के दस अंडे मिले थे. यहाँ सात करोड़ साल पहले ये डायनासोर रहते थे. अमेरिका, चीन, रशिया, केनेडा, यु.के. के वैज्ञानिक यहाँ रिसर्च कर चुके है.

कैसे पहुंचे डायनासोर पार्क: यह डायनासोर पार्क अहमदाबाद से 108 किलोमीटर, वडोदरा से 113 किलोमीटर, गोधरा से 44 किलोमीटर, बालासिनोर से 15 किलोमीटर की दूरी पर है.