मेरान्यूज नेटवर्क.राजकोट: राष्ट्रवादी युवा मंच और टीम इन्द्रनील द्वारा आज शहर में 'संविधान बचाओ देश बचाओ' रैली और सभा का आयोजन किया गया था। जिसमे कोंग्रेस के विधायक जिग्नेश मेवाणी, पाटीदार नेता हार्दिक पटेल और जेएनयू छात्रसंघ के पूर्वाध्यक्ष व वामपंथी नेता कन्हैया कुमार एक मंच पर उपस्थित रहे थे। शहर के सिविल अस्पताल चौक पर बाबा साहब की प्रतिमा को फुलहार कर के यह रैली शास्त्री मैदान के सभा स्थल पर पहुंची थी। दरमियान करणीसेना के कार्यकरो द्वारा काले झंडे दिखाकर कन्हैया का विरोध करने का प्रयास किया गया था। हालांकि पुलिसने तुरंत विरोध करनेवालो को हिरासत में ले लिया था।

सीता मैया दुःखी है मोदी के काम से यह तो सारे पैसे खा गए मेरे पति के नाम से : जिग्नेश मेवानी

जिग्नेश मेवानी ने प्रधानमंत्री मोदी पर प्रहार करते हुए बताया था कि, अगर आपका सीना ५६ इंच का है तो केजरीवाल, मायावती के यहां सीबीआई भेजने के बजाय विजय माल्या, नीरव मोदी जैसे कौभांडीयोंके पास भेजो।  वेलेंटाइन डे पर बताते हुए उन्होंने कहा था कि, pm मोदी यह दिन मना नही पाएंगे क्योंकि शायद ही कोई ऐसा होगा जो उनको प्रेम करता होगा। उल्टा चड्डिधारी आरएसएस के लोग तो प्यार करनेवालो को रोकेंगे। राम मंदिर के बारेमें बताते हुए उन्होंने कहा था कि, सीता मैया दुःखी है मोदी के काम से, यह तो सारे पैसे खा गए है मेरे पति के नाम से...

 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के श्राप के कारण युवा बेरोजगार है। हार्दिक पटेल

हार्दिक पटेलने बताया था कि, संविधान के बारेमें ज्ञान होना अति आवश्यक है। गुजरात की प्रजा मासुम है और यहांके लोगोमें राजकीय और सामाजिक जानकारी का अभाव है। इसीलिए यहां पर सालो से एक ही पार्टी का राज चल रहा है। यहां के लोगोमें संविधान की जानकारी लाने के लिए यह कार्यक्रम रखा गया है। कन्हैयाकी फोटो पर काली स्याही के बारेमें हार्दिकने बताया था कि, इस बारेमें जब पुलिस से बात की तो उन्होंने आरोपियों को ढूंढने में असमर्थता दिखाई थी। लेकिन ऐसा ही अगर रुपाणी के फोटो के साथ होता तो चंद मिनटों में आरोपी गिरफ्त में होता। यह बात ही संविधान का खून है। और इसको हमे बदलना है।

गुजरात मे एक ही रैली में अलग-अलग समुदाय के लोग एकसाथ आना अनोखी बात है। कन्हैया कुमार

कन्हैया कुमार ने बताया था कि, हमारी लड़ाई देश को बांटने की लड़ाई नही है। लेकिन जो कोई भी इस देश का नागरिक है उसे समानता का अधिकार दिलाने के लिए है। हमारा संविधान भी यही कहता है कि सबको समान अधिकार मिलना चाहिए। अगर हम देश को आगे बढ़ना चाहते है तो हमे भारतीयता की पहेचान बनानी होगी। जैसे चहेरे के अनुसार नाक कान होना चाहिए वैसे ही अच्छे समाज के लिए समानता जरूरी है। अपने फोटो पर कालिख पोतने वालो को करारा जवाब देते हुए कहा था कि, हमारे चहेरे पर तो कोई भी कालिक पोत सकता है। लेकिन मोदी, रुपाणी और अमित शाह के खिलाफ बोल के दिखाओ तो जानु। 

शाह और मोदीने गुजरात की अस्मिता को खंडित किया है। कन्हैया

५६ इंच के सीने की बात करते हो लेकिन जिसकी माँ आंगनवाड़ी में काम करती है, जिसका भाई शाहिद हो चुका है और जिसके पिता देशके खेतो में पसीना बहाते है। उनसे आप दुश्मनी कर रहे हो। अगर मैने देश के बारेमें गलत बोला है तो आप दिल्ही में क्या ढोकला खा रहे है। आपने तीन साल बाद तो चार्जशीट दाखिल किया। वह भी दिल्ही सरकार की परमिशन के बगैर ?इस शाह और मोदीजी ने गुजरात की अस्मिता को खंडित कर दिया है। यह गली गली जा के प्रधानमंत्री बनने के लिए जुठ पे जुठ बोले जा रहे है।

प्रधानमंत्री आज भी विरोधी दल के नेता लगते है क्योंकि वो जवाब देने के बजाय सवाल ही पूछते है। कन्हैया

आनेवाले चुनाव के बारेमे बताते हुए कन्हैया ने कहा था कि, मोदीजी चुनाव के वक़्त बोलते है कि पिछले ७० सालों से कोई काम नही हुआ है। में आपको याद दिलाना चाहता हूं कि, इन ७० सालो में पांच साल अटल जी के भी थे। जिसको आप लोटे में घूमा रहे थे। खुद अटल जी ने भी पिछली सरकार के कामो की सराहना की है। जो अपनी पत्नी को छोड़कर भाग गया वो भारत माता की जय बोलता है। प्रधानमंत्री अभी भी विरोधी दल के नेता लग रहे है। क्योंकि वह आज भी जवाब देने के बजाय सवाल ही करते है। 

हम जब १५ लाख और २ करोड़ रोजगारी का सवाल फेंकते है तो उनको जोर से लगता है। कन्हैया

मोदी पर प्रहार करते हुए कन्हैयाने कहा था कि, हम जब २ करोड़ रोजगारी और १५ लाख के बारेमें सवाल करते है। तो उनको जोर से लगता है। वो शायद भूल गए थे कि, चुनाव पांच साल में आता है। मोदीजी फेसबुक पर नारे लगाते है कि, हम शेर है। अगर आप शेर हो तो जंगल में रहो। हम इन्सान है हमे चैन से जीने दो। 

विरोधकर्ता को कन्हैया ने दिया करारा जवाब

कन्हैया के भाषण के समय भी कुछ लोगोंने नारे लगाकर उसका विरोध किया था। हालांकि कन्हैया ने बताया कि दो-चार फ़ोटो उसकी भी खींच लो ताकि वो रुपाणी को बताकर टिकट मांग सके। ऐसे लोग सिर्फ फोटो के लिए ही इस तरह का काम करते है।